Letest News

भारत की ये 5 पॉवरफुल महिलाएं, जिनके सामने फीके पड़ जाए दुनियाभर के बिजनेसमैन

महिलाओं को आज न केवल सदियों पुराने पितृसत्तात्मक सिद्धांतों को तोड़ते हुए देखा जाता है, बल्कि पुरुष गढ़ों पर भी अपना कब्जा जमाया है. न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में महिलाएं विभिन्न क्षेत्रों में चमक रही हैं और अन्य सेवाओं का प्रदर्शन कर रही हैं जो पारंपरिक रूप से पुरुषों द्वारा की जाती रही हैं. फोर्ब्स एशिया के अनुसार, होनासा कंज्यूमर के सह-संस्थापक गजल अलघ से लेकर राज्य द्वारा संचालित स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड की अध्यक्षता करने वाली पहली महिला सोमा मंडल तक एशिया की उन 20 महिला उद्यमियों में शामिल हैं जो अपनी कंपनियों का नेतृत्व कर रही हैं.

नमिता थापर फोर्ब्स एशिया की पावर बिजनेसवुमन 2022 सूची में नामित होने वाली तीसरी भारतीय हैं. नमिता थापर बिजनेस की दुनिया में जाना-पहचाना चेहरा हैं लेकिन सोनी टीवी के लोकप्रिय बिजनेस रियलिटी शो शार्क टैंक इंडिया के जरिए सुर्खियों में आईं. पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट, नमिता थापर पुणे स्थित एमक्योर फार्मा के कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्य करती हैं, जिनका व्यवसाय $730 मिलियन का है. वह 2007 में अपने पिता सतीश मेहता द्वारा स्थापित कंपनी में मुख्य वित्तीय अधिकारी के रूप में शामिल हुईं. नमिता थापर को भारत में महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार लाने और युवा उद्यमिता को बढ़ावा देने का जुनून है. 2022 एशिया की पावर बिजनेसवुमन सूची में दूसरी भारतीय व्यवसायी सोमा मंडल स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) की अध्यक्ष हैं, जो राज्य द्वारा संचालित कंपनी की अध्यक्षता करने वाली पहली हैं. सोमा मंडल को न केवल सेल की पहली महिला कार्यात्मक निदेशक होने का गौरव प्राप्त है, बल्कि वह कंपनी की पहली महिला अध्यक्ष भी हैं. 1984 में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, राउरकेला से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक, उन्हें धातु उद्योग में 35 से अधिक वर्षों का अनुभव है.

2022 एशिया की पावर बिजनेसवुमन सूची में पहली भारतीय व्यवसायी होनासा कंज्यूमर की सह-संस्थापक 34 वर्षीय गजल अलघ हैं, जो लोकप्रिय ब्रांड ममाअर्थ को होस्ट करती है. गजल अलघ की कंपनी जनवरी में सिकोइया कैपिटल इंडिया के नेतृत्व में 52 मिलियन डॉलर के फंडिंग राउंड को बंद करने के बाद एक यूनिकॉर्न बन गई, जिससे इसका मूल्य 1.2 बिलियन डॉलर हो गया. गजल अलघ ने 2016 में अपने पति वरुण सिंह के साथ गुड़गांव स्थित एक कंपनी शुरू की, जो सीईओ हैं. कंपनी होनासा कंज्यूमर ने हाल ही में ऑनलाइन और इन-स्टोर बिक्री के माध्यम से पिछले वित्त वर्ष में अपने राजस्व को दोगुना कर 121 मिलियन डॉलर (करीब 10 अरब रुपये) कर दिया. दिव्या गोकुलनाथ को फोर्ब्स एशिया की 2020 की पॉवरफुल बिजनेसवुमेन सूची में दिखाया गया था. वह बायजू की सह-संस्थापक हैं. इस एड-टेक स्टार्टअप को वो और उनके पति मिलकर चलाते हैं. बायजू रवेन्द्रन की कुल संपत्ति 3 बिलियन डॉलर से अधिक हो चुकी है.

भारत की ये 5 पॉवरफुल महिलाएं, जिनके सामने फीके पड़ जाए दुनियाभर के बिजनेसमैन

अंकिती बोस 1 बिलियन डॉलर के स्टार्टअप वाली पहली महिला सह-संस्थापक बनीं थीं. उनको फोर्ब्स इंडिया में सेल्फ मेड वुमन 2020 का खिताब दिया गया था. वह जिलिंगो की सीईओ हैं.

ravicmg10

Hello everyone Iam Ravi year old web devloper, web designer i have completed 10+12 and currently working on article writing and making content.

Related Articles

Back to top button
x